अंकिता लोखंडे ने सुशांत सिंह राजपूत के लिए गणेश बप्पा से प्रार्थना की

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद से अंकिता लोखंडे अभिनेता के लिए न्याय की लड़ाई लड़ रही हैं। अंकिता सुशांत को लेकर पोस्ट शेयर करती रहती हैं। अब हाल ही में वह गणपति बप्पा को घर ले आया। इस मौके पर उन्होंने सुशांत के लिए प्रार्थना भी की। अंकिता ने गणपति बप्पा का एक वीडियो साझा किया और लिखा, “घर में स्वागत है, गणपति बप्पा।” बप्पा, आपको सब पता है। बप्पा आप और मैं विशेष बंधन साझा करते हैं। आइए हम सब मिलकर बप्पा से प्रार्थना करें। सभी को गणेश चतुर्थी की शुभकामनाएं।

अंकिता ने सुशांत के लिए गायत्रीमंत्र और हैशटैग के जरिए सुशांत के लिए ग्लोबल प्रेयर भी लिखी है।

बता दें कि सुशांत की atopy रिपोर्ट सामने आई है। एटॉप्सी रिपोर्ट में कहा गया है कि सुशांत (अप्राकृतिक) की मौत फांसी के कारण दम घुटने से हुई है। यह यह भी बताता है कि थायरॉयड-उपास्थि के स्तर पर गर्दन के आसपास मौजूद दबाव के निशान (संयुक्ताक्षर) भी हैं। रिपोर्ट के अनुसार, the लिगचर ’की कुल लंबाई 33 सेंटीमीटर है।

जिस रात रिया चक्रवर्ती घर छोड़ कर आईं, सुशांत ने घरवालों को बताया

नेबर ने बताया- सुशांत की मौत से पहले की रात घर की लाइट बंद थी, ऐसा कभी नहीं हुआ था

संयुक्ताक्षर चिह्न क्या है

सामान्य भाषा में, संयुक्ताक्षर चिह्न को गहरा चिह्न कहा जाता है। यह आमतौर पर यू आकार का होता है, जो यह दर्शाता है कि गला रस्सी या कुछ इसी तरह कड़ा हुआ है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि गर्दन के दाहिनी ओर का संयुक् त निशान अधिक और गहरा है और गर्दन के पीछे और ग्रीवा के फैलाव पर कोई निशान नहीं है। रिपोर्ट में संयुक्ताक्षर चिह्न का विस्तृत विवरण दिया गया है।

क्या आप महेश भट्ट द्वारा निर्देशित फिल्म ‘रोड 2’ देखना चाहेंगे?

पांच डॉक्टरों द्वारा तैयार की गई रिपोर्ट में कहा गया है कि चमड़े के नीचे के ऊतकों और मांसपेशियों और थायरॉयड ग्रंथि, स्वरयंत्र की मांसपेशियों और गले की मांसपेशियों में रक्तस्राव का कोई सबूत नहीं है।